tourist places in jaisalmer

जैसलमेर का किला 12 वीं शताब्दी में राव जैसल द्वारा बनाया गया था यह काफी ऊंचाई पर है यह बलुआ पत्थर से बना है यह पर्यटक का आकर्षण केंद्र है

जैसलमेर के किले से लगभग 42 किलोमीटर की दूरी पर सैम सैंड ड्यून्स जैसलमेर में देखने के लिए सर्वोत्तम स्थान है।

गदिसर लेक 14 वीं सदी में जल संरक्षण टैंक के रूप में निर्मित किया गया था गदिसर लेक में नाव की सवारी करना जैसलमेर में एक और रोमांचक बात है

17 वीं शताब्दी में निर्मित सलीम सिंह की हवेली जैसलमेर में प्रसिद्ध है जिसमें एक मोर की आकृति में एक विस्तारित धनुषाकार छत है जो की एक अलग वास्तुकला के लिए जानी जाती है।

पटवा की हवेली यह 19वीं शताब्दी के एक धनी व्यापारी गुमान चंद पटवा ने अपने बेटे को उपहार के तौर पर दी थी

तनोट माता मंदिर के जैसलमेर से 150 किलोमीटर दूर है बॉर्डर फिल्म में भी इसे दिखाया गया है इसके बिना आपके जैसलमेर की यात्रा अधूरी है

व्यास छत्री रेत के टीला के बीच में बनाई गई एक सुंदर वास्तुकला है जिसमें हिंदू महाकाव्य महाभारत को दर्शाया गया है

कुलधरा गांव इसमें 84 गांव शामिल थे लेकिन 19वीं सदी में पूरा गांव अंधेरे में गायब हो गया, लोग कहते हैं यह गांव शापित है और इसे भारत में प्रेतवाधित गांवों में से एक माना जाता है

जैन मंदिर जिसमें दीवारों पर जानवरों और मानव आकृति की वास्तुकला का एक अच्छा कार्य देखने को मिलता है और यह एक बहुत सुंदर मंदिर है तथा पर्यटन स्थल में शामिल है

डेजर्ट नेशनल पार्क यह प्राचीन वन्यजीवों का पार्क है जहां पर जंगल जीप सफारी और कैंपिंग भी कर सकते हैं जो आपके लिए यादगार होगा |